कहती थी नानी, मत पियो खड़े होकर पानी, अब बोला रिसर्च, फेल होगी किडनी - धर्म संसद
why we should not drink water while standing
Image Courtesy: merisaheli.com

कहती थी नानी, मत पियो खड़े होकर पानी, अब बोला रिसर्च, फेल होगी किडनी

Spread the love
  • 92
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    92
    Shares

गांव में नानी-दादी हमेशा खड़े होकर पानी पीने से मना करती थीं, क्योंकि हिन्दू धर्म की मान्यताओं के मुताबिक खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए। बच्चे नानी-दादी से खेलने और उन्हें चिढ़ाने के लिए बार-बार उनके सामने जाकर ग्लास उठाकर खड़े होकर पानी पीते थे। सब इसे अंधविश्वास समझते थे। पढ़े-लिखे लोग कहते थे कि यह सब बेकार की पुरानी बातें हैं। वे खड़े होकर बोतल का पूरा पानी गटगटा कर पी जाते थे, पर लगातार वैज्ञानिक रिसर्च से यह साबित हो रहा है कि हिन्दुओं की कई धार्मिक मान्यताओं के पीछे कोई न कोई वैज्ञानिक कारण रहा है। रिसर्च के मुताबिक खड़े होकर पानी पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है।

जानिए खड़े होकर पानी पीने की आदत के कारण कैसे हमारा शरीर खतरनाक बीमारियों की चपेट में आ सकता है।

1.  खराब होता है पाचन तंत्र (डाइजेस्टिव सिस्टम)

खड़े होकर पानी पीने से हमारे शरीर का पाचन तंत्र (डाइजेस्टिव सिस्टम) खराब होता है। एक रिसर्च के मुताबिक हर दिन सात करोड़ लोग पाचन संबंधी समस्याओं (डाइजेस्टिव प्रॉब्लम्स) से जूझते हैं और इससे मुक्ति पाने के लिए जिनटेक और दूसरी दवाएं खाते रहते हैं। इन दवाओं से हमें तत्काल तो राहत मिल जाती है, पर इनका हमारे शरीर के ऊपर बहुत बुरा असर होता है। इसलिए अच्छा यह होगा कि हम खड़े होकर पानी पीएं और अपने पाचन तंत्र को अच्छा रखें।

यह भी पढ़ें: राज ठाकरे ने पृथ्वी को धमकाया, ऐसे लोगों के शरीर को खा जाते हैं कीड़े

2.  किडनी पर पड़ता है बुरा असर

खड़े होकर पानी पीने से हमारी किडनी बुरी तरह प्रभावित होती है। स्वस्थ किडनी हमारे शरीर के लिए कितनी जरूरी है, यह उस व्यक्ति से पूछिए जो किडनी ट्रांसप्लांटेशन के लिए अस्पताल में पड़ा है और कोई उसे अपनी किडनी दान (डोनेट) करने के लिए तैयार नहीं है। जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं, तो पानी तेजी से हमारे खाने की नली (फूड कैनाल) से होता हुआ लोअर स्टमक वॉल पर तेजी से जाकर गिरता है। इससे हमारा स्टमक वॉल डैमेज होता है और इसके आस-पास के दूसरे अंग भी डैमेज होते हैं। लगातार खड़े होकर पानी पीने से हमारा पूरा डाइजेस्टिव सिस्टम गड़बड़ (डिस्टर्ब) हो जाता है।

रिसर्च में सामने आया है कि जब हम बैठकर पानी पीते हैं, तो हमारी किडनी इसे बेहतर तरीके से फिल्टर कर पाती है, पर जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं, तो पानी बिना अच्छी तरह फिल्टर हुए तेजी से आगे निकल जाता है। इससे हमारे खून में और ब्लाडर में गंदगी जमा होती है, जिससे हमारी किडनी डैमेज होती है। रिसर्च के मुताबिक खड़े होकर पानी पीने से हमारी प्यास भी नहीं बुझती, क्योंकि पानी लीवर में रुक भी नहीं आता, ताकि शरीर के विभिन्न अंगों तक पहुंच सके। यह तेजी से आता है और पीने वाले को सिर्फ नुकसान ही नुकसान करता है।

3. खड़े होकर पानी पीने से होता है आर्थराइटिस

डॉक्टर्स के मुताबिक खड़े होकर पानी पीने से आर्थराइटिस हो सकता है। यह हमारे शरीर के ज्वाइंट्स को बुरी तरह प्रभावित करता है और हमें आर्थराइटिस की ओर ले जाता है।

…तो तुरंत नानी का कहना मान लें। नानी जो कहती थी कि खड़े होकर पानी मत पियो बाबू। अब वही बात डॉक्टर्स भी कह रह हैं। नानी बिना रिसर्च, बिना किसी डॉक्टरी सलाह के समझाती थी, पर हम नहीं मानते थे। अब जाइए और नानी को बताइए कि नानी, तुम जो कहती थी, अब वही बात देश-विदेश के डॉक्टर्स भी कह रहे हैं। सॉरी नानी, जो हमने तुम्हारी बात नहीं मानी। पानी तो हम अब भी रोज आठ ग्लास पीएंगे, पर बैठकर पीएंगे नानी। मेरी नानी, सबसे सयानी।

यह भी पढ़ें: 6 बार पुर्तगाली सेना को हराया, देशहित में पति को ठुकराया, सनी लियोन क्या करेगी उनका रोल

(Visited 634 times, 1 visits today)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *