राज ठाकरे ने पृथ्वी को धमकाया, ऐसे लोगों के शरीर को खा जाते हैं कीड़े - धर्म संसद
raj Thackeray intimidate prithvi shaw
Prithvi Shaw in the left and Raj Thakre in the right.

राज ठाकरे ने पृथ्वी को धमकाया, ऐसे लोगों के शरीर को खा जाते हैं कीड़े

Spread the love
  • 125
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    126
    Shares

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के नेता राज ठाकरे पर आरोप लगा है कि राज ठाकरे की ओर से उभरते क्रिकेटर पृथ्वी शॉ को धमकियां दी जा रही हैं। बिहार के गया के मानपुर के रहने वाले पृथ्वी शॉ अपने परिवार के साथ मुंबई में रहते हैं। राज ठाकरे की ओर से फोन कर पृथ्वी शॉ के पूरे परिवार को धमकियां दी जा रही हैं। कहा जा रहा है कि तुमलोग मुंबई में रह कर कहते हो कि हम बिहार के रहने वाले हैं। तुम्हें हम यहां से खदेड़ देंगे। मुंबई से भगा देंगे। तुम्हारा करियर बर्बाद कर देंगे।

सहमा है 18 वर्ष का पृथ्वी

कहा जा रहा है कि इन धमकियों से मात्र 18 वर्ष का पृथ्वी सहम गया है। वह मुंबई में रह रहे अपने परिवार की सुरक्षा के लिए चिंतित हो गया है। इसका पृथ्वी के खेल पर भी असर पड़ सकता है। पृथ्वी अभी क्रिकेट की दुनिया में ‘बच्चा’ है।  राज ठाकरे के पास मुंबई में गुंडों की ताकत है।

रूह कांप जाएगी सजा जानकर

राज ठाकरे जोर-जुल्म कर सकता है। धमकी दे सकता है और ऐसा घृणित काम करने के बावजूद कानून से भी बच सकता है, पर वह धरती के कानून से बच सकता है। ईश्वर के कानून से नहीं। अगर राज ठाकरे ने 18 वर्ष के पृथ्वी और उसके परिवार को धमकियां दी हैं और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है, तो गरुड़पुराण के मुताबिक ईश्वर राज ठाकरे को ऐसी सजा देंगे कि उस सजा के बारे में सुनकर भी रूह कांप जाएगी।

यह भी पढ़ें: 6 बार पुर्तगाली सेना को हराया, देशहित में पति को ठुकराया, सनी लियोन क्या करेगी उनका रोल

जानें, ऐसे गुनाहों की क्या है सजा

गरुड़पुराण कहता है कि जो व्यक्ति निर्दोष और बच्चों पर जुल्म करता है उसे मृत्यु के बाद ईश्वर तेज दांत वाले जानवरों के मुंह में भर देते हैं और जानवर अपने तीखे दांतों से उसके शरीर को चबाते हैं। वह व्यक्ति दर्द से बिलबिलाता और चिल्लाता रहता है, पर ईश्वर उसे वैसे ही तेज दांत वाले जानवरों के मुंह में डाले रहते हैं। साथ ही जो व्यक्ति दूसरों का अधिकार छीनता है, उसके पूरे शरीर पर ईश्वर जहरीले सांप छोड़ देते हैं। जहरीले सांप उसके शरीर को काटते रहते हैं। वह दर्द से तड़पता रहता है, पर सांप की जकड़न से वह बाहर नहीं आ पाता। अच्छे लोगों पर अत्याचार करने वाले के शरीर को ईश्वर की आज्ञा से बाज नोचते रहते हैं। उसके शरीर का मांस खींचते रहते हैं।

raj Thackeray intimidate prithvi shaw
Punishment: Fed to worms, snakes and scorpions, Image Courtesy: chaibisket.com

जानें, अतिथियों का अपमान करने वाले को मिलती है कैसी सजा

जो व्यक्ति अतिथियों का अपमान करता है और अतिथियों पर अत्याचार करता है, उसके पूरे शरीर पर ईश्वर कीड़े छोड़ देते हैं और कीड़े उसके पूरे शरीर को खाते रहते हैं। गुजरात में यूपी-बिहार-एमपी-राजस्थान के निर्दोष लोगों को पीट-पीट कर मारने की घटनाओं में शामिल और ऐसा करने के लिए लोगों को भड़काने में शामिल लोग चाहे जितनी पूजा कर लें। चाहे जितने मंदिर घूम लें, उनके शरीर को कीड़े ही खाएंगे। राज ठाकरे ने अगर 18 साल के पृथ्वी को धमकाया है, अगर मुंबई में रह रहे पृथ्वी के माता-पिता को धमकाया है, तो वह चाहे जितना लंबा टीका लगा ले, जितनी पूजा कर ले, उसके शरीर को कीड़े ही खाएंगे।

यह भी पढ़ें: BHU प्रोफेसर डॉ कमलेश का बड़ा रहस्योद्घाटन, बिहार में इस जगह हुआ था समुद्र मंथन

श्रीमद्भगवद्गीता कहता है कि इस जन्म में भी मिलती है सजा, देखिए राज ठाकरे का क्या हाल हो गया

यह ईश्वर का न्याय है और ईश्वर के न्याय के सामने राज ठाकरे तो तुच्छ है, बड़े-बड़ों की नहीं चलती। गरुड़पुराण कहता है कि मनुष्य के कर्मों की सजा ईश्वर उसे मरने के बाद जरूर देते हैं और ऐसी सजा देते हैं जिसे अगर एकबार कोई जिंदा मनुष्य देख ले, तो वह दुबारा कभी कोई गलत काम करने की हिम्मत न करे, पर श्रीमद्भगवद्गीता कहता है कि मनुष्य के कर्मों का फल उसे मृत्यु के बाद तो भोगना ही पड़ता है, पर मृत्यु से पहले ही अगर वह इतने पाप कर ले कि उसके पापों का घड़ा भर जाए, तो उस मनुष्य और उसके परिजनों को इसी जन्म में पापों की सजा भोगनी होगी। राज ठाकरे का भी पूरी तरह पतन होता जा रहा है।

एक समय ऐसा था कि राज ठाकरे को महाराष्ट्र की राजनीति में उभरती ताकत के रूप में देखा जा रहा था, पर आज राज ठाकरे की पार्टी के पास न एक भी सांसद हैं और न एक भी विधायक। मनसे से सांसद तो कोई जीता ही नहीं। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में राज ठाकरे की पार्टी से सिर्फ एक विधायक जीता था, पर उस विधायक ने भी राज ठाकरे की रवैए से आखिरकार तंग आकर इस्तीफा दे दिया और अब उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकले हैं।

कॉर्पोरेटर्स तक छोड़कर चले गए

यहां तक कि राज ठाकरे की पार्टी से जो कुछ कॉर्पोरेटर्स चुनाव जीते थे, उनमें से भी अधिकांश भी राज ठाकरे से तंग आकर शिवसेना में चले गए। राज ठाकरे की भाषा देखिए। जब उनकी पार्टी के छह कार्पोर्टेर्स मनसे छोड़कर शिवसेना में चले गए, तो राज ठाकरे ने कहा कि छक्के चले गए।

यह भी पढ़ें: गुजराती व्यापारी, बिहारी सिपाही, सीमा पर हम न छाती ताने, तो फिर आएगा गजनी तबाही मचाने

(Visited 5,470 times, 3 visits today)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *