अनिल अंबानी से क्या सीखा, बिना काबिलियत और मेहनत पापा के अरबों भी नहीं आएंगे काम - धर्म संसद
anil ambani
Image Courtesy: thewirehindi.com

अनिल अंबानी से क्या सीखा, बिना काबिलियत और मेहनत पापा के अरबों भी नहीं आएंगे काम

Spread the love
  • 96
  • 1
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    97
    Shares

भारत के सबसे सफल बिजनेसमैन में एक धीरजलाल हीरालाल अंबानी(धीरुभाई अंबानी) कभी गुजरात के जूनागढ़ में पकौड़े बेचते थे। धीरुभाई अंबानी के पिता शिक्षक थे। आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। धीरुभाई की पढ़ाई भी पूरी नहीं हो पाए। पकौड़े की दुकान भी बंद हो गई, तो यमन चले गए। वहां एक पेट्रोल पंप पर नौकरी करते थे। वापस लौटे और संघर्ष करके देश का सबसे बड़ा बिजनेस अंपायर खड़ा किया। धीरुभाई अंबानी के दो बेटे। बड़े बेटे मुकेश अंबानी और छोटे बेटे अनिल अंबानी। मुकेश अंबानी आज देश के सबसे अमीर व्यक्ति हैं। वे देश के सबसे सफल बिजनेसमैन हैं पर छोटे बेटे अनिल अंबानी 45 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबे हुए हैं।

अनिल अंबानी ने 14 करोड़ रुपये हर दिन गंवाए

अनिल अंबानी भी 2007 में देश के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति थे, पर आज उनकी हालत यह है कि स्वीडेन की कंपनी एरिक्सन ने उनके खिलाफ बकाए की मांग करते हुए कोर्ट में केस कर रखा है। खुद अनिल अंबानी ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा था कि जब उनका बुरा वक्त आया, तो सबने उनसे दूरी बना ली। लोग उनका फोन तक नहीं उठाने लगे। अनिल अंबानी ने विदेश से पढ़ाई की। पिता धीरुभाई अंबानी का नाम। विरासत में इतना बड़ा बिजनेस अंपायर। इतना सब मिलने के बाद कोई कैसे इस हालत में पहुंच सकता है कि वह दिवालीया होने के कगार पर आ जाए। उसकी सामाजिक स्थिति ऐसी हो जाए कि लोग उसका फोन उठाना बंद कर दे। कोई किस्मत को दोष दे सकता है।

सब भाग्य पर छोड़ सकता है, पर सच यह है कि अनिल अंबानी की कहानी यह साबित करती है कि विरासत में मिली पूर्वजों की अरबों की संपत्ति भी किसी की सफलता की गारंटी नहीं हो सकती और अगर किसी में काबिलियत है, तो धीरुभाई अंबानी की तरह वह पकौड़े बेचने और यमन के पेट्रोल पंप पर काम करने से शुरुआत कर देश का सबसे बड़ा बिजनेस अंपायर खड़ा कर सकता है। आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल जहां मुकेश अंबानी ने हर दिन 187.9 करोड़ रुपये कमाए, वहीं अनिल अंबानी ने 14 करोड़ रुपये हर दिन गंवाए।

यह भी पढ़ें: कहती थी नानी, मत पियो खड़े होकर पानी, अब बोला रिसर्च, फेल होगी किडनी

अनिल अंबानी की हो गई है यह हालत

मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी के पिता धीरुभाई अंबानी को अपने पिता से विरासत में कुछ भी नहीं मिला था। परिवार की खराब आर्थिक स्थिति की वजह से धीरुभाई अंबानी की पढ़ाई भी अच्छी तरह नहीं हो पाई थी। अनिल अंबानी ने विदेश जाकर पढ़ाई की। बिजनेस करने के गुर सीखे, पर धीरुभाई अंबानी ने जहां बिना किसी विरासत के देश का सबसे बड़ा बिजनेस अंपायर खड़ा कर दिया, वहीं अनिल अंबानी की कंपनियां बिक रही हैं। दिवालीया हो रही हैं। स्वीडेन की कंपनी एरिक्सन ने अदालत में यहां तक दरख्वास्त कर दी कि जबतक अनिल अंबानी उसका बकाया नहीं लौटा देते, तबतक उनके देश से बाहर जाने पर पाबंदी लगाई जाए।

सफलता की गारंटी नहीं है पूर्वजों से मिली अकूत संपत्ति

धीरुभाई अंबानी के एक फोन पर बड़े-बड़े बिजनेसमैन दौड़े चले आते थे। मुकेश अंबानी के फोन पर बड़े-बड़े बिजनेसमैन दौड़े चले आते हैं, पर अनिल अंबानी ने खुद ही खुलासा किया है कि लोगों ने उनका फोन तक उठाना बंद कर दिया। मतलब साफ है कि न विदेश में की गई पढ़ाई, न पूर्वजों से मिली अकूत संपत्ति, न विशाल बिजनेस अंपायर और न बड़े-बड़ों से दोस्ती सफलता की गारंटी है। अनिल अंबानी के पास क्या नहीं था, पर फिर भी वे इतनी बुरी तरह असफल हुए और उनके पिता धीरुभाई अंबानी के पास कुछ नहीं था। यहां तक कि छोटा-मोटा बिजनेस शुरू करने के लिए भी पैसे नहीं थे। न बड़े-बड़ों से जान पहचान थी, न बड़े स्कूलों में उन्होंने पढ़ाई की थी, पर फिर भी धीरुभाई अंबानी ने इतिहास लिखा।

यह भी पढ़ें: राज ठाकरे ने पृथ्वी को धमकाया, ऐसे लोगों के शरीर को खा जाते हैं कीड़े

पैसे बचा बड़े होटल में चाय पीने जाते थे धीरुभाई

धीरुभाई अंबानी के बारे में एक कहानी बड़ी मशहूर है कि जब वे नौकरी करते थे, तो वहां के कर्मचारियों को चाय पीने के लिए थोड़े पैसे मिलते थे, पर धीरुभाई अंबानी अपने पैसे बचा एक बड़े होटल में चाय पीने जाते थे। धीरुभाई के साथी कर्मचारी पूछते थे कि इतने बड़े होटल में चाय पीकर पैसा क्यों बर्बाद करते हो, तो वे कहते थे कि मैं वहां चाय पीने नहीं जाता, बल्कि वहां जब मैं चाय पीता हूं, तो मेरे आस-पास बड़े-बड़े बिजनेसमैन बैठे होते हैं और वे बिजनेस के बारे में बातें कर रहे होते हैं। मैं चुपचाप उनकी बातें सुनता हूं और बिजनेस के गुर सीखता हूं। सफलता काबिलियत और मेहनत से मिलती है पूर्वजों से मिली संपत्ति और विरासत के बल पर नहीं।

यह भी पढ़ें: 6 बार पुर्तगाली सेना को हराया, देशहित में पति को ठुकराया, सनी लियोन क्या करेगी उनका रोल

(Visited 436 times, 1 visits today)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *